मानवता को समर्पित डेरा सच्चा सौदा

आज के समय में जहां स्वार्थी युग में हर जगह बुराई का बोलबाला है। लोगों के रिश्ते गर्ज से बंधे हुए हैं, गर्ज होती है तो लोग बात करते हैं। अगर मतलब नहीं तो अपनों को भी पहचानने से इंकार कर देते हैं। वहीं कुछ लोग ऐसे भी हैं, जो मरती इंसानियत को जिंदा कर, आए दिन नए आयाम हासिल कर रहे हैं। किसी को दुःख-दर्द में तड़पता देख उसके दुःख को कम करते हैं, रक्तदान करते हैं, पौधारोपण, गरीब की लड़की की शादियां करवाते हैं। अब आपके मन में कई सवाल आ रहे होंगे कि आखिर यह लोग कौन है, कहां से है और ऐसा करने की प्रेरणा इन्हें कहा से मिलती है। आइए जानते हैं संपूर्ण जानकारी।

An organization dedicated towards the true service of humanity-

Image for post
Image for post

आपने देशों-विदेशों में विभिन्न NGO’s और सामाजिक संस्थाओं के बारे में सुना होगा। लेकिन एक विश्व प्रसिद्ध संस्था जिसने, इंसानियत के मायने ही बदल दिए हैं। यह पूरे विश्व में एक ऐसी संस्था है जहां सभी धर्मों के लोग एक साथ आते हैं, सभी धर्मों के लोग एक साथ बैठते हैं। इस संस्था में धर्म-जाति, अमीर-गरीब किसी भी प्रकार का भेदभाव नहीं किया जाता। सभी धर्मों का आदर सत्कार किया जाता है व सच्ची इंसानियत का पाठ पढ़ाया जाता है। आपको बता दें इस संस्था द्वारा 134 मानवता भलाई के कार्य किए जाते हैं, जो आपने पूरे विश्व में किसी और संस्था के बारे में नहीं सुने होंगे और यह अपने आप में एक अजूबा है। आपको बता दें इस संस्था का नाम डेरा सच्चा सौदा है। जो परहित के लिए काम करती है।

History of Dera Sacha Sauda

Image for post
Image for post

हरियाणा के सिरसा जिले में स्थित डेरा सच्चा सौदा एक सामाजिक व धार्मिक संस्था है। जहां सभी धर्मों का आदर सत्कार किया जाता है। डेरा सच्चा सौदा संस्था की स्थापना 29 अप्रैल 1948 को पाकिस्तान के बिलोचिस्तान से आए इस संस्था के प्रथम अध्यात्मिक गुरु बेपरवाह शाह मस्ताना जी महाराज ने हरियाणा के छोटे से जिले सिरसा में आकर की थी। यह संस्था पिछले 72 वर्षों से यही संदेश देती आ रही है कि भगवान एक है और इंसानियत की सेवा करना हमारा एकमात्र धर्म है।

हमारा देश शुरू से ही ऋषि-मुनियों की जन्म धरती रहा है। माना जाता है कि ईश्वर के सारे काम संतो के द्वारा ही होते हैं। जब-जब धरती पर पाप बढ़ते हैं, तब-तब भगवान धरती की रक्षा के लिए अपने बनाए संत-महापुरुषो को भेजता है। आज के समय में कलयुग इतने यौवन पर है कि भाई-भाई का दुश्मन बना हुआ है। अपने स्वार्थ के लिए लोग एक दूसरे की जान लेने पर आतुर हो जाते हैं। ऐसे में मानवता की सच्ची शिक्षा बताने व सदियों से बिछड़ी रूहों को राम- नाम से जोड़ने के उद्देश्य से बेपरवाह शाह मस्ताना जी महाराज ने डेरा सच्चा सौदा की नींव रखी।

About Spiritual Master of Dera Sacha Sauda

1. Revered Shah Mastana Ji Maharaj-

डेरा सच्चा सौदा के प्रथम अध्यात्मिक गुरु बेपरवाह श्याम मस्ताना जी महाराज का जन्म वर्ष 1891 को कार्तिक मास की पूर्णिमा को गांव कोटडा, जिला कलायत, बिलोचिस्तान (जो अब पाकिस्तान में है) में हुआ था। साईं जी खत्री वंश से संबंध रखते थे शाह मस्ताना जी महाराज ने 1948 से लेकर 1960 तक हजारों लोगों को राम नाम से जोड़ा में 28 फरवरी 1960 को उन्होंने शाह सतनाम सिंह जी महाराज के रुप में अपना उत्तराधिकारी घोषित कर दिया।

2. Revered Param Pita Shah Satnam Singh Ji Maharaj-

डेरा सच्चा सौदा के दूसरे आध्यात्मिक गुरु परम पिता शाह सतनाम सिंह जी महाराज का जन्म 25 जनवरी 1919 को गांव श्री जलालआणा साहेब, जिला सिरसा, हरियाणा में हुआ। परम पिता जी को शाह मस्ताना जी महाराज ने 28 फरवरी 1960 को अपना उत्तराधिकारी घोषित किया था। वर्ष 1960 से लेकर 1990 तक शाह सतनाम सिंह जी महाराज ने लाखों की तादाद में लोगों को राम-नाम से जोड़ा और 23 सितंबर 1990 के दिन संत डॉक्टर गुरमीत राम रहीम सिंह जी इन्सां को अपने तीसरे पातशाह के रूप में रूहानियत का बादशाह बनाया व करीब डेढ़ वर्ष तक उनके साथ रहे।

3. Revered Saint Dr. Gurmeet Ram Rahim Singh Ji Insan-

डेरा सच्चा सौदा के प्रमुख तीसरे पातशाही संत डॉक्टर गुरमीत राम रहीम सिंह जी इन्सां का जन्म 15 अगस्त 1967 को श्री गुरुसरमोडिया, जिला श्रीगंगानगर, राजस्थान में हुआ। परम पिता शाह सतनाम सिंह जी महाराज ने पूज्य गुरु जी को 23 सितंबर 1990 को अपना उत्तराधिकारी बना कर गुरुगद्दी सौंपी। पूज्य गुरु जी ने अब तक 6 करोड़ से अधिक लोगों की तमाम बुराईया छुड़वाकर राम नाम से जोड़ा व उन्हें मानवता का सच्चा पाठ पढ़ाया।

What is True Humanity?

इंसानियत का सच्चा अर्थ पूज्य गुरु संत डॉक्टर गुरमीत राम रहीम सिंह जी इन्सां ने करोड़ों लोगों को बताया। पूज्य गुरु जी ने बताया है कि किसी को दुःख-दर्द में तड़पता देख उसके काम आना उसके दुःख को दूर करने की कोशिश करना, बजाय उस पर हंसने के यही सच्ची इंसानियत है। किसी गिरे हुए को उठाना सच्ची इंसानियत है, जरूरतमंद की मदद करना सही मायनो में true humanity है।

Holy Slogan-

Dhan Dhan Satguru Tera Hi Aasra

डेरा सच्चा सौदा के संस्थापक बेपरवाह शाह मस्ताना जी महाराज ने बाबा सावन शाह जी महाराज से पाक पवित्र नारा मंजूर करवाया। ‘धन धन सतगुरु तेरा ही आसरा’ जिसका अर्थ है- ‘धन-धन’ यानी धन्य है! धन्य है!, ‘सतगुरु’ यानी पीर, फकीर, गुरु जो मालिक से एक हो गया है। ‘तेरा ही आसरा’ यानी तेरा ही सहारा है। अर्थात्- तू धन्य है सतगुरु, मुझे तेरा ही सहारा है। यकीनन जो इस पाक-पवित्र नारे का पूरी श्रद्धा से अभ्यास करता है, तो यह नारा मालिक की दरगाह में मंजूर होता है और इंसान खुशियां हासिल करता है।

One step solution to all problems : Meditation

ईश्वर का नाम सभी परेशानियों का मुकम्मल हल है। इसका निरंतर अभ्यास करने से इंसान अपनी तमाम गम, दुःखो व चिंताओं से मुक्ति हासिल कर लेता है। डेरा सच्चा सौदा के संस्थापक भी परवाह शाह मस्ताना जी महाराज ने वर्ष 1948 में राम-नाम का ऐसा बीज बोया, जो आज समस्त विश्व में लहलहा रहा है। यह education का एक ऐसा हम है जहां पर रूहानियत की शिक्षा के साथ-साथ मानवता व दुनिया की शिक्षा भी दी जाती है। यहां पर राम-नाम का सच्चा व सीधा रास्ता बताया जाता है। जिसका निरंतर जाप करने से इंसान 84 लाख योनियों में जन्म मरण के चक्कर से आवागमन मुक्ति हासिल करता है व जीते जी गम दुःख-दर्द से छुटकारा पा सकता है। डेरा सच्चा सौदा में method of meditation बिना किसी दान चढ़ावे के निःशुल्क दिया जाता है।

Purpose of Dera Sacha Sauda :to reach the pinnacle of humanity-

डेरा सच्चा सौदा संस्था का एकमात्र उद्देश्य मानवता के शिखर तक जाना है। इसके लिए डेरा सच्चा सौदा द्वारा विभिन्न प्रयास किए गए हैं।जो इस प्रकार है:

1. Social Evolution-

समाज के विकास व जन कल्याणकारी गतिविधियों को सुचारू रूप से चलाने के लिए पूज्य गुरु संत डॉक्टर गुरमीत राम रहीम सिंह जी इन्सां ने ‘Shah Satnam Ji Green S Welfare Force Wing’ का गठन किया। जो मानवता की सेवा के लिए 24*7 घंटे उपलब्ध रहती है। किसी को रक्त देना हो, भूखे को खाना देना हो या कहीं भी प्राकृतिक आपदाएं आए जैसे- सूखा, बाढ़ आदि में डेरा सच्चा सौदा के ग्रीन एस वेलफेयर फोर्स विंग के लाखों सेवादार पीड़ितों के लिए राहत सामग्री लेकर पहुंच जाते हैं। इसमें डॉक्टर, इंजीनियर, वैज्ञानिक, उच्च स्तर के ऑफिसर व किसान आदि शामिल है। जो मानवता को शिखर तक पहुंचाते हैं और इंसानियत की नई परिभाषा देते हैं। पूज्य गुरु जी ने इस फौज को लेकर वचन भी फरमाए हैं कि पूरी दुनिया में ऐसी कोई दूसरी फौज नहीं है, जो दूसरों की निःस्वार्थ भावना से सेवा करती हो। धन्य है ऐसे माता-पिता जिन्होंने ऐसे बच्चों को जन्म दिया।

2. Crusades against Social Evils-

पूज्य गुरु संत डॉक्टर गुरमीत राम रहीम सिंह जी इन्सां ने कन्या भ्रूण हत्या व वेश्यावृत्ति जैसी अन्य सामाजिक बुराइयों को खत्म करने का बीड़ा उठाया है। वेश्यावृत्ति को समाज से खत्म करने के लिए पूज्य गुरु जी ने 2009 में वेश्यावृत्ति में लिप्त लड़कियों को बाहर आने व उन्हें अपनी बेटी के रूप में अपनाने का फैसला लिया। पूज्य गुरु जी के एक आह्वान पर वेश्यावृत्ति छोड़कर आने वाली लड़कियों से शादी करवाने के लिए 1500 युवा प्रण ले चुके हैं। पूज्य गुरु जी ने इन बेटियों को ‘शुभ देवी’ के नाम से नवाजा है।

3. Shahi Betiyan Basera and Shah Satnam Ji Asra Ashram-

डेरा सच्चा सौदा ने अपनों द्वारा ठुकराए गए बच्चों के लिए अलग-अलग व्यवस्था की है। लड़कियों के लिए जहां शाही बेटियां बसेरा आश्रम है, वहीं लड़कों के लिए शाह सतनाम जी शाही आसरा आश्रम है। जिनमें अब तक 29 लड़कियां व 42 से अधिक लड़के हैं। इन बच्चों को पूज्य गुरु जी ने इनके माता-पिता के स्थान पर अपना नाम दिया है। यह बच्चे सीबीएसई स्कूलों में पढ़ते हैं और अच्छे अंक प्राप्त कर देश व समाज का नाम रोशन कर रहे हैं।

4. A Ray of Hope-

डेरा सच्चा सौदा संस्था ने अब तक करोड़ों लोगों को जीने की एक नहीं आशा दी है। जो लोग नशे जैसी दलदल में फंसे थे, जो रोजाना 70 फोर्टविन के इंजेक्शन लेते थे, 15 ग्राम स्मैक का सेवन करते थे, दिन में 15 से 20 शराब की बोतलों का सेवन करते थे। आज वे राम के नाम से जुड़कर अच्छी जिंदगी जी रहे है। डेरा सच्चा सौदा में बिना किसी दवाई के नशे से छुड़वाए जाते हैं।

5. True life-

सार्वजनिक स्थानों पर घूम रहे बेसहारा व शारीरिक विकलांगों और भिखारियों की यथासंभव सहायता करना और उन्हें भीख मांगने के बजाय हक हलाल की कमाई करके खाने के लिए डेरा सच्चा सौदा ने लाखों लोगों को प्रेरित किया है।

6. दीपदान The Greatest Gift-

आज का स्वार्थी युग है जिसमें लोग अपने स्वार्थ को पूरा करने के लिए अपने अपनों का गला घोट देते हैं। वहीं इस संसार में ऐसे भी लोग हैं जो अपने घरों की खुशियां दूसरों पर निछावर कर देते हैं। पूज्य गुरु संत डॉक्टर गुरमीत राम रहीम सिंह जी इन्सां की पावन प्रेरणा पर चलकर आज डेरा सच्चा सौदा के लाखों श्रद्धालु अपने जिगर का टुकड़ा निःसंतान दंपतियों को सौंप कर उनके आंगन में खुशियां बिखेर रहे हैं।

डेरा सच्चा सौदा के सेवादारों द्वारा किए जा रहे मानवता भलाई के कार्य आज हर व्यक्ति के लिए इंसानियत की राह बनते जा रहे हैं। डेरा सच्चा सौदा का नाम पूरे विश्व में भलाई के कार्यों में जाना जा रहा है और ऐसा हो भी क्यों ना। क्योंकि इस संस्था से जुड़ा हर एक व्यक्ति रक्तदान, नेत्रदान, गरीब बच्चों की पढ़ाई, गरीब लड़कियों की शादी करवानी आदि जैसे नेक कार्य बढ़-चढ़कर सहयोग कर रहा है। मानवता भलाई के कार्यो की सम्पूर्ण जानकारी के लिए आप दिए गए लिंक https://www.saintdrmsginsan.me/welfare-initiatives/ को खोलकर देख सकते हैं।

Conclusion-

डेरा सच्चा सौदा आज विश्व भर में मानवता भलाई के कार्य कर आए दिन नए मुकाम हासिल कर रहा है और समस्त विश्व में इंसानियत की अनोखी मिसाल कायम कर रहा है। धन्य है इस संस्था के करोड़ो अनुयायी जिन्हें इस संस्था से जुड़ने का सौभाग्य प्राप्त हुआ।

Get the Medium app

A button that says 'Download on the App Store', and if clicked it will lead you to the iOS App store
A button that says 'Get it on, Google Play', and if clicked it will lead you to the Google Play store