पर्यावरण संरक्षण कर, हमेशा के लिए इसकी सुंदरता का आनंद लें

प्रकृति ईश्वर के द्वारा बनाई गई सुंदर रचनाओं में से एक है। जिसमें ईश्वर ने विभिन्न प्रकार की वस्तुओं से संजोकर रखा है। जैसे पेड़-पौधे, जीव-जंतु, जल और वायु इत्यादि। ईश्वर ने इन सब में सबसे सुंदर रचना की है, मनुष्य को बनाकर। जो इस प्रकृति में सबसे समझदार बुद्धिमान और बलवान माना जाता है।

Image for post
Image for post

क्या आप जानते हैं कि ईश्वर ने इंसान को इतना प्रभावशाली और इतने गुणों से सुशोभित क्यों किया है?

आपको बता दें ईश्वर ने इंसा को इतना प्रभावशाली, बुद्धिमान और बलवान इसलिए बनाया हैं ताकि इंसान ईश्वर की बनाई इस प्रकृति/ पर्यावरण से प्यार कर सके। इसे संभाल सके, इसकी देखरेख अच्छे से कर सके।

पर्यावरण संरक्षण क्यों जरुरी है?

इस दुनिया में रहने वाले हर व्यक्ति के लिए पर्यावरण संरक्षण एक संदेश है। पर्यावरण संरक्षण करना हम सभी के लिए केवल विकल्प नहीं, अपितु यह हम सभी के लिए आवश्यक है। हम सभी प्रकृति से पैदा हुए हैं। प्रकृति संसाधनों का अपने जीवन में इस्तेमाल करते हैं। अतः हम प्रकृति का हिस्सा है।

इसलिए हमारा भी कर्तव्य बनता हैं कि हम भी इन प्राकृतिक संसाधनों का बुद्धिमानी से इस्तेमाल करें और प्रकृति को बचाने में अपना योगदान दें। यदि हमारा पर्यावरण सुरक्षित रहेगा तभी हम भी सुरक्षित रहेंगे। अगर पर्यावरण असुरक्षित है, तो एक दिन यह हमें भी समाप्त कर देगा।

आपको बता दें हम में से कई लोग प्रकृति के लिए कुछ करना चाहते हैं। लेकिन ज्ञान व अवसर की कमी के कारण अक्सर अपने मार्ग से पिछड़ जाते हैं। लेकिन एक अभियान हमें सही दिशा और प्रेरणा दे सकता है।

हरियाणा के सिरसा जिले में स्थित एक संस्था है, जिसने पर्यावरण की सुरक्षा के लिए केवल एक, दो नहीं बल्कि विभिन्न अभियान चलाए है।

आज सर्वोत्तम समय है अपने ग्रह की स्थिति को सुधारने का

हमारा ग्रह प्रकृति संसाधनों से भरा है। जिसमें नीला आकाश, हिंद महासागर, घने जंगल, पेड़-पौधे, जीव-जंतु आदि शामिल है। इनमें से कुछ संसाधन नवीकरणीय है, कुछ नहीं है।

लेकिन बड़े दुर्भाग्य की बात है आज की बढ़ती मानव आबादी अपनी कभी न खत्म होने वाली जरूरतों व लालच के लिए इन सभी प्राकृतिक संसाधनों के साथ बड़ा खतरा स्थापित कर रही है। अगर इन संसाधनों का दोहन ऐसे ही होता रहा, तो हम यह अनुमान नहीं लगा सकते कि भविष्य में आने वाली पीढ़ियों को क्या मिलेगा।

अक्सर, लोग पर्यावरण के हानिकारक परिणामों की चिंता किए बिना पेड़ों की अंधाधुंध कटाई कर रहे हैं। इसके कारण global warming हो रही है। पेड़ो की कटाई के कारण बाढ़, भूकंप और सुखे जैसी समस्याएं हो रही है। इसलिए हमे पेड़ों की कटाई पर रोक लगानी चाहिए। क्योकि जैसे कि आप जानते हैं, पेड़ मिट्टी और पानी के संरक्षण और मरुस्थली को रोकने में मदद करते हैं। पेड़ हमें ऑक्सीजन प्रदान करते हैं व कार्बन डाइऑक्साइड को ग्रहण करते हैं। पेड़ हिमस्खलन को नियंत्रित करते है और तटीय क्षेत्रों की रक्षा करते हैं। इस प्रकार हम अपने ग्रह की स्थिति को सुधारने सकते हैं।

वह संस्था जिस ने विभिन्न प्रकृति अभियान चलाएं

हरियाणा के सिरसा जिला में स्थित डेरा सच्चा सौदा एक ऐसी संस्था है, जो मानव मानवता सेवा के लिए 24*7 घंटे तैयार रहती है। पर्यावरण को बचाने की अनूठी पहल में भी यह संस्था विश्व भर में प्रसिद्ध है। 29 अप्रैल 2007 को इस संस्था के प्रमुख ने ‘Nature Campaign’ के नाम से एक अनोखा अभियान शुरू किया था। इस अभियान में प्रत्येक व्यक्ति को वर्ष में कम से कम 12 पौधे लगाने का आह्वान किया गया था। गुरुजी के एक आह्वान से डेरा सच्चा सौदा के करोड़ों अनुयायी प्रत्येक वर्ष लाखों पौधे लगाते हैं। इसके लिए कई विश्व कीर्तिमान भी स्थापित हो चुके हैं।

यह संस्था ऐसे 134 मानवता भलाई के कार्य करती है। जिसमें से कई प्राकृतिक अभियान चलाए गए हैं। जैसे कि पौधारोपण करना, सफाई अभियान आदि।इसके द्वारा हम पर्यावरण को सुरक्षित रख सकते हैं।

प्रकृति अभियान के लिए उठाए गए सराहनीय कदम

डेरा सच्चा सौदा द्वारा प्रकृति को बचाने के लिए विभिन्न प्रकृति अभियान चलाए गए हैं। जिनमें से एक पौधारोपण है। आइए जानते हैं।

पौधारोपण/ Mega Tree Plantation

मानव द्वारा प्रकृति के लापरवाह शोषण ने पृथ्वी के अस्तित्व को प्रभावित किया है। बढ़ता प्रदूषण, बढ़ती गंदगी और पिघलते ग्लेशियर यह सब केवल मानवीय संवेदनशीलता और हस्तक्षेप के कारण ही है। बिना सोचे समझे वनों की कटाई की जा रही है। इसके लिए डेरा सच्चा सौदा द्वारा प्रकृति अभियान चलाया गया है। जिसका नाम है- पौधारोपण!

पेड़-पौधे प्रदूषण को कम करते हैं और हमारे स्वास्थ्य के लिए भी फायदेमंद है। पौधारोपण करने से हमारी आने वाली पीढ़ियां स्वस्थ जीवन जी सकेंगी। इस संस्था का मकसद केवल पौधे लगाना नहीं है, अपितु उनका पालन पोषण करना भी है। डेरा सच्चा सौदा के अनुयाई अपने त्योहारों, जन्मदिन आदि को पौधरोपण करके मनाते हैं।

अपने बच्चों के रूप में करें पेड़ पौधों की देखभाल

गुरु जी का कहना है कि हमें वर्ष में 12 पौधे अवश्य लगाने चाहिए और उनकी अपने बच्चों की तरह संभाल करनी चाहिए। भविष्य में आप के बेटा-बेटी आपका साथ छोड़ सकते हैं, लेकिन आपके द्वारा लगाए गए पौधे आने वाले लंबे समय तक मानवता की सेवा करेंगे।

प्रकृति अभियान के तहत, डेरा सच्चा सौदा ने वृक्षारोपण में स्थापित किए 3 विश्व कीर्तिमान

डेरा सच्चा सौदा अपने मानवता भलाई कार्यों के लिए विश्व भर में प्रसिद्ध है। इसके साथ ही डेरा सच्चा सौदा कई विश्व कीर्तिमान भी स्थापित कर चुका है। जिनमें से 3 विश्व कीर्तिमान इस संस्था को वृक्षारोपण के क्षेत्र में मिले हैं।

दुनिया के करोड़ों लोग पौधारोपण कर मनाते हैं- त्यौहार

आपको शायद सुनने में अजीब लग रहा होगा, लेकिन डेरा सच्चा सौदा के करोड़ों अनुयाई अपने गुरु की पावन शिक्षा से केवल अपने गुरु जी के जन्मदिन पर ही नहीं अपितु अपने हर त्योहार को पौधारोपण करके बनाते हैं व उस पौधे का पालन-पोषण अपने छोटे बच्चों की तरह करते हैं। फिर चाहे वह किसी का जन्मदिन हो, शादी हो या फिर कोई त्यौहार हो वह सब त्योहारों को पौधरोपण करके मनाते हैं और प्रकृति को हरा-भरा रखने में अपना सहयोग देते हैं।

आइए हम सभी मिलकर नियमित रूप से पेड़ लगाने का संकल्प लें

पर्यावरण को बचाने के लिए हम सभी को सक्रिय कदम उठाने की आवश्यकता है। हम सभी को प्राकृतिक संसाधनों का ध्यान रखना होगा। डेरा सच्चा सौदा इस तरह के अभियान को जन आंदोलनो में परिवर्तित करके एक अनोखी मिसाल कायम कर रहा है। ऐसे में हमें हम सभी को मिलकर प्रण लेना चाहिए कि हम वर्ष में 12 पौधे अवश्य लगाएं व उन पौधों की सार-संभाल भी जरूर करें।

प्रेरणास्रोत:

आपको बता दें इन करोड़ों लोगों के प्रेरणा स्त्रोत डेरा सच्चा सौदा के प्रमुख संत डॉक्टर गुरमीत राम रहीम सिंह जी इन्सां है। जिन की पावन प्रेरणा पर चलकर आज यह करोड़ों अनुयाई प्रकृति को हरा भरा रख प्रकृति अभियान में अपना सहयोग दे रहे हैं।

निष्कर्ष:

आइए हम सभी मिलकर धरती मां को बचाने के लिए एक पेड़ अवश्य लगाएं और प्रकृति अभियान में अपना सहयोग दें।

Get the Medium app

A button that says 'Download on the App Store', and if clicked it will lead you to the iOS App store
A button that says 'Get it on, Google Play', and if clicked it will lead you to the Google Play store