स्वच्छता हमारा उत्तरदायित्व

हम सभी अपने जीवन में उम्र भर स्वस्थ और खुश रहना चाहते हैं। यह जीवन जीने का सबसे अच्छा व एकमात्र तरीका है। लेकिन यह स्पष्ट है कि एक स्वस्थ और खुशहाल जीवन के लिए स्वच्छता बेहद जरूरी है। क्योंकि अगर हमारे आस-पास सफाई होगी, तो हमारे विचार भी शुद्ध होंगे और हम विभिन्न प्रकार की बीमारियों से भी बच सकते हैं।

Maintain Cleanliness and give contribution in making society disease free-

हमारे शरीर, मन व हमारे आस-पा की साफ-सफाई से है। स्वछता हमारे समाज का एक अभिन्न अंग है। जिस पर हमारे विचार, कर्म निर्भर करते हैं। स्वच्छता विभिन्न प्रकार की बीमारियों से बचाव के लिए एक बहुत सरल उपायों में से एक है। हमें अपनी दिनचर्या में साफ-सफाई के महत्व को समझना चाहिए व बच्चों में भी इसकी आदत शुरू बचपन से ही डालनी चाहिए।

मानव शरीर को शारीरिक, मानसिक, बौद्धिक व सामाजिक हर तरह से स्वस्थ रहने के लिए cleanliness बेहद जरूरी होती है। देश के नागरिक होते हुए अपने आस-पास सफाई रखना हम सभी का उत्तर दायित्व बनता है। हमारी भारतीय संस्कृति विश्व में सबसे महान है और हमारे धर्मो में भी लिखा है कि जहां साफ सफाई होती है। वहां पर भगवान का वास होता है। इसलिए स्वस्थ व निरोगी काया के लिए स्वच्छता पहला कदम है। स्वच्छता का अहम उद्देश्य लोगों में विचारों का शुद्धिकरण होता व बीमारियों से छुटकारा पाकर एक स्वस्थ समाज का निर्माण करना है।

Must follow these tips to balance work and family during pandemic-

  1. Keep your surroundings neat and clean-

अपने आस-पास चारों तरफ की साफ सफाई करना हमारा उत्तरदायित्व है। आमतौर पर देखने में आता है की लोग अपने घर की साफ सफाई करते हैं। लेकिन कुछ लोग अगर कहीं बाहर जाते हैं, तो साफ सफाई का बिल्कुल ध्यान नहीं रखते है और घर के बाहर कचरा डाल देते हैं या यात्रा करते समय खाने की वस्तुओं के छिलके या पैकेट गाड़ी से बाहर डाल देते हैं। जिससे गंदगी भी फैलती है और यह दुर्घटना का कारण भी बन सकता है। इसलिए हमें अपने घर के साथ-साथ अपने आसपास की जगहों की भी साफ-सफाई करनी चाहिए। जिससे हम बीमारियों से भी बच सकते हैं। पूज्य गुरु संत डॉक्टर गुरमीत राम रहीम सिंह जी इन्सां ने करोड़ों अनुयायियों को साफ सफाई रखने का आह्वान किया है, जिस पर करोड़ों लोगों ने अमल किया है

कूड़ा-कर्कट कूड़ेदान में डालें-

हमें हमेशा कचरे को कूड़ेदान में डालना चाहिए। जिससे उस पर मक्खी मच्छर उत्पन्न नहीं होते और हम सभी महामारी के साथ-साथ अन्य बीमारियों से भी बच सकते हैं।

अपनी गली मोहल्ले की सफाई करें -

महामारी व अन्य बीमारियों के संक्रमण को रोकने के लिए रोजाना या फिर सप्ताह में अपनी गली मोहल्लों की सफाई अवश्य करें। जिससे वातावरण शुद्ध होगा और इंसान की सोच भी सकारात्मक होगी।

पानी को एक जगह ठहरने ना दे-

आमतौर पर आपने देखा होगा अगर पानी एक जगह स्थिर रहता है। तो उस पर मच्छर, मक्खी व छोटे जीव उत्पन्न हो जाते हैं। जो घर में भी चले जाते हैं और घर में बनाए खाने पर बैठ जाते हैं। जिसके कारण बीमारियों के संक्रमण की संभावना अधिक हो जाती है। इस संक्रमण को रोकने के लिए अपने आसपास की जगह पर पानी को ठहरने नहीं देना चाहिए।

2. Clean and Sanitize regular touch surfaces-

घर में नियमित रूप से स्वच्छता बनाए रखने के लिए हमें घर की उन सतहों की सफाई करनी चाहिए जिन्हें हम बार-बार छूते हैं। जैसे दरवाजे की घंटी, फ्रिज, नल, main gate, कुर्सी, दरवाजे के हैंडल, फ्रिज का हैंडल माइक्रोवेव के हैंडल, चाबी आदि। इन सभी सतहों को हमें समय-समय पर साफ करना चाहिए व कोशिश करनी चाहिए कि हम right hand की बजाए left hand का इस्तेमाल इन सतहों को छूने के लिए करना चाहिए। क्योंकि left hand हम अपने face तक कम लेकर जाते हैं। जिससे महामारी जैसी अन्य बीमारियों के संक्रमण का खतरा कम रहता है।

3. Maintain personal hygiene-

अपने आपको महामारी व अन्य बीमारियों से बचाने के लिए अपनी सफाई भी जरूरी है। इसके लिए कुछ सावधानियों को बरतना आवश्यक है। आइए जानते हैं -

  • Hand wash

महामारी व अन्य बीमारियों के संक्रमण को रोकने के लिए हाथों को बार-बार धोना चाहिए व अपने मुंह, आंख व नाक को बार-बार नहीं छूना चाहिए। हाथ धोने का सही तरीका पूज्य गुरु जी ने करोड़ों लोगों को अपनी चिट्ठी के माध्यम से बताया है। जो इस प्रकार है-

Way to clean your hands properly

1. दोनों हाथों पर साबुन या हैंड वॉश लगाए व हाथों में झाग बनाए।

2. एक हाथ की हथेली को दूसरे हाथ के नाखून से रगड़े।

3. दूसरे हाथ के लिए भी ऐसे ही दोहराए।

4. फिर साफ कपड़े से अपने हाथों को पूछ ले व अपने हाथ को स्वस्थ बनाए।

  • Wear Mask

जब भी आप घर से बाहर जाते हैं तो मास्क लगा कर जाए। जिससे आप फेल रहे संक्रमण के साथ-साथ अन्य बीमारियों व धूल मिट्टी के कणों से भी बच पाएंगे। पूज्य गुरु संत डॉक्टर गुरमीत राम रहीम सिंह जी इन्सां ने भी अपनी चिट्टी के माध्यम से वचन फरमाए है कि जब भी आप बाहर जाते हैं तो मास्क लगाकर अवश्य जाए।

  • Maintain Social Distancing

महामारी व अन्य बीमारियों के संक्रमण से बचने के लिए आपस में सोशल डिस्टेंसिंग रखें। पूज्य गुरु जी ने अपनी चिट्ठी में वचन फरमाए है कि इस महामारी से बचने के लिए सभी आपस में सामान्य दूरी बनाए रखें व सरकार के सभी नियमों का पालन करें। पूज्य गुरु जी की शिक्षा पर आज लाखों लोग अमल कर रहे हैं।

  • Say Namaste

पुरातन से हमारी संस्कृति है, अपने बड़ों को हाथ जोड़कर नमस्ते करना। लेकिन समय के साथ लोग पश्चिमी सभ्यता को अपनाकर अपनी संस्कृति को भूल गए है। नमस्ते की जगह हाय हेलो करते हैं। लेकिन आज के समय में महामारी व अन्य बीमारियों के संक्रमण को रोकने के लिए अपनी संस्कृति को अपनाना चाहिए। हाथ मिलाने की बजाय सामान्य दूरी बनाते हुए नमस्ते करनी चाहिए। जिससे हम बीमारियों को फैलने से कुछ हद तक रोक सकते हैं।

  • When you return to home from outside, first take a bath

पूज्य गुरु संत डॉक्टर गुरमीत राम रहीम सिंह जी इन्सां ने अपनी चिट्ठी के माध्यम से लोगों को महामारी से बचने के लिए वचन फरमाए है कि जब भी आप बाहर से घर लौटते हैं। तो सबसे पहले स्नान करना चाहिए व इस्तेमाल किए हुए कपड़े को सर्फ के पानी में भिगो देना चाहिए और साफ-सुथरे कपड़े पहनने के बाद ही अपने परिवार से मिलना चाहिए। जिससे हम स्वयं को व अपने परिवार को बीमारियों से बचा सकते हैं।

Benefits of cleanliness -

1. Health Benefits-

Cleanliness prevents many diseases-

हमारे स्वास्थ्य व खुशहाल जीवन में स्वच्छता का अहम योगदान है। अगर हम अपने आसपास सफाई रखते हैं, तो हम अपने आप को विभिन्न बीमारियों के संक्रमण से बचा सकते हैं। जैसे- महामारी, मलेरिया, डेंगू व टी.बी. आदि।

Cleanliness help us to overcome Stress-

साफ व स्वच्छ जगह इंसान को अच्छा शारीरिक व मानसिक स्वास्थ्य प्रदान करती है। अगर हमारे आसपास सफाई होती है, तो यह हमारी रचनात्मक शक्ति को बढ़ाती है व तनाव को कम करती है।

2. Spiritual Benefits-

-Increased focus during meditation

अगर हमारे आसपास सफाई होती है, तो हमारा वातावरण शुद्ध होगा। ईश्वर की भक्ति में ध्यान जल्दी लगता है व ईश्वर की प्राप्ति जल्दी हो जाती है। इंसान के अनुयायी विचारों का शुद्धिकरण होता है, जिससे इंसान का आत्मबल बढ़ता है व आत्मबल बढ़ने से इन्सान जीवन में सफलता हासिल करता है।

- Give Positive thoughts in mind

अगर हमारे आसपास सफाई होती है तो हमारे विचार शुद्ध होते हैं व सकारात्मक सोच बढ़ती है। पूज्य गुरु जी फरमाते हैं कि अगर हमारे आसपास सफाई होती है तो अच्छे विचार आते हैं और अगर हमारे चारों तरफ गंदगी होती है। तो लोगों में बुरे विचार अधिक आते हैं और देश व समाज में अपराध बढ़ते हैं। इसलिए हमें अपने आसपास सफाई रखनी चाहिए।

Ho Prithvi Saaf, Mite Rog Abhishaap, a unique cleanliness drives started by Baba Ram Rahim to make our country clean-

डेरा सच्चा सौदा के प्रमुख संत डॉक्टर गुरमीत राम रहीम सिंह जी इन्सां शुरू से ही सफाई पर जोर देते आए हैं। पूज्य गुरु जी ने सत्संगो के माध्यम से करोड़ों लोगों को जागरूक किया है कि हमें अपने आसपास सफाई रखनी चाहिए। पूज्य गुरु संत डॉक्टर गुरमीत राम रहीम सिंह जी इन्सां द्वारा अब तक 32 सफाई महाअभियान हो चुके हैं और अलग-अलग शहरों की सफाई हो चुकी है। इन सभी अभियानो की जानकारी प्राप्त करने के लिए आप इस लिंक

https://www.derasachasauda.org/cleanliness-earth-campaign/

को खोल कर देख सकते हैं। पूज्य गुरु जी सभी से साफ सफाई करने का आह्वान करते हैं व पूज्य गुरु जी की इन प्रेरणाओ पर लाखों लोगों ने अमल किया और अपने आसपास साफ-सफाई रखने का प्रण लिया। अब तक डेरा सच्चा सौदा के लाखों अनुयायियों अपने आसपास सफाई रखने के फॉर्म भर चुके हैं। व महामारी के समय में भी जगह-जगह पर सेनेटाइस़ कर रहे हैं।

Conclusion-

देश के नागरिक होने के कारण हम सभी का उत्तरदायित्व बनता है कि हम अपने देश व समाज को स्वच्छ रखें। अपने आसपास सफाई का ध्यान रखें और अपने देश के भविष्य को उज्जवल बनाएं। इसलिए हम सभी को प्रण लेना चाहिए कि हम अपने आसपास सफाई का पूरा ध्यान रखेंगे और महामारी व अन्य बीमारियों के संक्रमण को फैलने से रोकने में अपना योगदान देंगे।

Get the Medium app

A button that says 'Download on the App Store', and if clicked it will lead you to the iOS App store
A button that says 'Get it on, Google Play', and if clicked it will lead you to the Google Play store