किसी की मुस्कान का कारण बने:विश्व दयालुता दिवस 2020

किसी के चेहरे पर मुस्कान लाना, दूसरों के प्रति दया की भावना, दूसरों के दुख को अपना दुख समझना सबसे निःस्वार्थ प्रेम करना! यही सब का Kindness के गुण होते हैं, जो हर किसी में नहीं पाए जाते हैं। आज के इस स्वार्थी युग में बहुत ही कम लोग ऐसे हैं, जो दूसरों के प्रति दया-भावना, विनम्रता रखते हैं।

World Kindness Day कब मनाया जाता है?

Image for post
Image for post

प्रत्येक वर्ष 13 नवंबर के दिन को पूरे विश्व में विश्व दयालु दिवस यानी World Kindness Day के रूप में मनाया जाता है।

World Kindness Day क्यों मनाया जाता है?

हर सल 13 नवंबर को World Kindness Day मनाया जाता है।World Kindness Day एक सकारात्मक शक्ति व दया की डोर पर आधारित है। जो समाज में अच्छे कार्यों को उजागर करने के लिए लोगों को प्रोत्साहित करता है।World Kindness Day माने की शुरुआत वर्ष 1998 में World Kindness Movement संगठन द्वारा की गई थी। जिसकी स्थापना वर्ष 1997 में टोक्यो सम्मेलन में विश्व भर के दयालु संगठनों द्वारा की गई थी। World Kindness Day जापान, कनाडा, अॉस्ट्रेलिया, नाइजीरिया और अरब सहित विभिन्न देशों में मनाया जाता है। सिंगापुर में इस दिन को वर्ष 2009 में पहली बार मनाया था। इसके साथ ही इटली व भारत ने भी इसे वर्ष 2009 में World Kindness Day मनाने की शुरुआत की थी। यह दिवस संयुक्त राज्य अमेरिका, कनाडा ऑस्ट्रेलिया, जापान आदि विभिन्न देशों में भी मनाया जाता है। यह दिन हमें दूसरों के साथ Kindness के साथ पेश आने का अवसर प्रदान करता है।

World Kindness Day मनाने का उद्देश्य

इस दिन को मनाने का उद्देश्य लोगों में, समाज में और विभिन्न समुदायों को अच्छे व नेक कार्य करने और सभी के प्रति दयालुता को उजागर करने के लिए प्रोत्साहित करना है। इसके साथ ही यह दिन एक मिसाल पेश करता है कि Kindness की गुणवत्ता एक साथ रहने और एक Kindness दुनिया बनाने की शक्ति है। हमारे द्वारा किया गया एक प्रयास हमारे बीच समाज और समुदाय में एक वैश्विक बदलाव ला सकता है।

What is kindness?

Kindness का अर्थ- दयालुता। दूसरों के प्रति दया की भावना रखना, दूसरों के दर्द को अपना दर्द समझना, किसी को दुःख-दर्द में तड़पता देख उसके काम आना, उसके दुख को दूर करने की हर संभव कोशिश करना। जरूरतमंद के काम आना, भगवान के द्वारा बनाई गई सारी सृष्टि का भला करना सच्ची Kindness है। दयाल कैसे भी हो सकती है। किसी की सफलता पर खुश होना, किसी के काम में मदद करना, किसी जरूरतमंद की जरूरत पूरी करना चाहे उसे कपड़े दान करना या राशन करना किसी को अपनी सीट देना, किसी के काम की सराहना करना यह सब Kindness उदाहरण है।

Qualities of a Kind person

1.दया धर्म की भावना

एक दयालु व्यक्ति में दया धर्म की भावना अवश्य होनी चाहिए। वह दूसरों की परेशानी को समझे व उस व्यक्ति का साथ दें। तो यह सच्ची Kindness है। किसी लाचार, सड़क पर पड़े दुर्घटनाग्रस्त व्यक्ति की सहायता करना दया है। अगर आप धर्म को मानते हैं, तो धर्मों का भी यही असूल है कि इंसान को अपने अंदर दया धर्म की भावना को हमेशा जिंदा रखना चाहिए।

2. दीनता-नम्रता

एक दयालु व्यक्ति को हमेशा दीनता नम्रता की भावना को अपने अंदर जागृत रखना चाहिए। कभी भी किसी व्यक्ति के साथ दुर्व्यवहार नहीं करना चाहिए। किसी का दिल नहीं दुखाना चाहिए। इंसान को क्रोध को त्याग कर अपने अंदर दीनता-नम्रता को धारण करना चाहिए।

3.सहानुभूति

एक दयालु व्यक्ति को अपने अंदर सहानुभूति की भावना रखनी चाहिए। किसी को कष्ट में देखकर उसके दुःख को अपना दुःख समझना और उसके कष्ट को दूर करने की पूरी कोशिश करना सच्ची सहानुभूति होती है।

4.मददगार

एक दयालु व्यक्ति को अपने अंदर दूसरों की मदद करने व काम करने की भावना रखनी चाहिए। किसी जरूरतमंद की मदद करना। जैसे- किसी भूखे को खाना खिलाना, बीमार का इलाज करवाना, गरीब बच्चों को शिक्षा दिलाना आदि विशेषताएं एक Kind person के अंदर होनी चाहिए।

Millions learnt the lesson of kindness, humanity from true master Saint Dr.MSG

डेरा सच्चा सौदा में पूजनीय गुरु Saint Dr.Gurmeet Ram Rahim Singh Ji Insan द्वारा करोड़ों लोगों को यह शिक्षा दी जाती है कि हमें अपने अंदर दया-धर्म की भावना अवश्य रखना चाहिए। फिर चाहे वह इंसान हो या पशु-पक्षी या फिर कोई भी जीव हो, सभी के प्रति अपने अंदर इंसानियत की भावना रखनी चाहिए। डेरा सच्चा सौदा संस्था में जात-पात, धर्म का भेदभाव किए बिना इंसानियत की सच्ची राह दिखाई जाती हैं और ऐसे 134 मानवता भलाई के कार्य किए जाते हैं जिससे दूसरों के काम आया जा सके। यहां मरती इंसानियत को दोबारा जीवित करने का फर्ज निभाया जाता है।

Volunteers of Dera Sacha Sauda are performing 134 acts of kindness for the welfare of society, by following the teachings of spiritual master, Saint Dr. Gurmeet Ram Rahim Singh Ji Insan, some of them are mentioned below :

1.Cloth Bank-

जैसा कि आपको पता है, सर्दी का मौसम आ रहा हैं और हम देखते हैं कि सड़क के किनारे बहुत से लोग कपड़ों की कमी के कारण ठंड में तड़पते रहते हैं। ऐसे लोगों को सर्दी ना लगे, इसके लिए डेरा सच्चा सौदा द्वारा विभिन्न जिलों में ब्लॉक स्तर पर Cloth Bank बनाए गए हैं। जहां से जरूरतमंद लोगों को कपड़े दान किए जाते हैं।

2.Homely Shelter-

इस संसार में हर कोई चाहता है कि उसका भी एक सपनों का घर हो, उसके सिर पर भी छत हो। लेकिन आर्थिक तौर से गरीब लोगों का यह सपना अधूरा रह जाता है। ऐसे लोगों के सपनों को पूरा करने के लिए डेरा सच्चा सौदा द्वारा आशियाना मुहिम के तहत जरूरतमंद लोगों को घर बना कर दिए जाते हैं। ऐसा करके यह डेरा सच्चा सौदा के अनुयायी Kindness की मिसाल कायम कर रहे हैं।

3.Providing every sort of help in destitute girl’s marriage :

कौन बात नहीं चाहता की उसकी बेटी की शादी अच्छे से हो, लेकिन कुछ आर्थिक तौर से गरीब लोग ऐसा करने में असमर्थ होते हैं। ऐसे लोगों के लिए मसीहा बनकर आए डेरा सच्चा सौदा के सेवादार जो अपने गुरु जी के द्वारा चलाई गई आशीर्वाद मुहिम के तहत गरीब लड़की की शादी में हर संभव सहायता करते हैं।

4.Posthumous Body Donation :

इंसानियत के काम आने में ये डेरा सच्चा सौदा के अनुयायी कभी पीछे नहीं हटते। अपने पूज्य गुरु जी की एक आह्वान से डेरा सच्चा सौदा की लाखों अनुयायियों ने मरणोपरांत शरीर दान करने का प्रण लिया है। ऐसा करके यह लोग चिकित्सा अनुसंधान के काम आते है और Kindness की अनोखी मिसाल कायम कर रहे हैं।

4.Medical Support

डेरा सच्चा सौदा के लाखों अनुयायी अपने गुरु जी की प्रेरणा से हर जरुरतमंद को चिकित्सा सुविधा प्रदान करते हैं। अगर कोई सड़क पर घायल इंसान हो या जानवर। ये डेरा अनुयायी उनकी सार संभल करते हैं व उनका इलाज करवा कर Kindness की मिसाल देते हैं।

अगर आप 134 मानवता भलाई के कार्यो को देखना चाहते हैं तो आप इस लींक पर https://www.derasachasauda.org/humanitarian-works/ देख सकते हैं।

Millions of volunteers all over the world pledged to do welfare of humanity

डेरा सच्चा सौदा के करोड़ों अनुयायी अपने गुरु जी की पवन शिक्षाओं से इंसानियत की सेवा करने व दया भावना रखने का प्रण ले चुके हैं। यह करोड़ो डेरा सच्चा सौदा के अनुयायी इंसानियत की अनोखी मिसाल कायम कर रहे हैं। कोई भूखे पेट ना सोए इसके लिए सप्ताह में 1 दिन का व्रत रखते है व उस दिन के खाने को गरीब व जरूरतमंद लोगों में दान करते हैं, अपने आसपास सफाई का ध्यान रखती हैं, बीमार का इलाज करवाते हैं, नियमित तौर पर रक्तदान करते हैं। ऐसा करके ये इंसानियत का फर्ज निभाते हैं।

Service of humanity and kindness during Covid-19

By DSS Volunteers

महामारी में आगे आए डेरा सच्चा सौदा के सेवादार

कोरोना काल में जहां लोग अपने घरों से बाहर नहीं निकल रहे थे, वहीं डेरा सच्चा सौदा के अनुयायी मानवता की नई मिसाल कायम कर रहे थे। जब लॉकडाउन के दौरान ब्लड बैंक खाली हो रहे थे। तब यह डेरा अनुयाई हजारों यूनिट रक्तदान कर रक्त की कमी को पूरा कर रहे थे। कोरोना महामारी में जब लॉकडाउन था तब सारे ढाबा, रेस्तरां बंद थे। तब जानवर-पक्षि भी भूख से तड़प रहे थे। उस समय में इन अनुयायियों ने उन्हें खाना-पानी, हरा चारा आदि उपलब्ध करवाया और लाखों जीवो की जान बचाने में अपना योगदान दिया। जगह-जगह जाकर सेनीटाइज किया। धन्य है ये सेवादार और धन्य है इनके गुरु जिन्होंने इन सेवादारों को मानवता की सच्ची शिक्षा दी।

Source of Inspiration for millions

इस सब के प्रेरणास्त्रोत संत डॉक्टर गुरमीत राम रहीम सिंह जी इन्सां है। जो हमेशा अपने अनुयायियों को दया-भावना व सच्ची इंसानियत सिखाते हैं। पूज्य गुरु जी कहते हैं God is Love, Love is God अर्थात् भगवान ही प्यार है और प्यार ही भगवान है। इसलिए हमें हमेशा अपने अंदर दया की भावना रखनी चाहिए व भगवान की बनाई सृष्टि का भला करना व मांगना चाहिए।

Conclusion

इस World Kindness Day के मौके पर हम सभी को मिलकर प्रण लेना चाहिए कि हम अपने अंदर दया भावना व इंसानियत को हमेशा जिंदा रखेंगे और हमारे आस-पास जो जरूरतमंद लोग हैं उनकी की मदद करेंगे।

Image for post
Image for post

ReplyForward

Get the Medium app

A button that says 'Download on the App Store', and if clicked it will lead you to the iOS App store
A button that says 'Get it on, Google Play', and if clicked it will lead you to the Google Play store